Sunday, November 27, 2016

कैराना के बाद अब अलीगढ़ से हो रहे हैं हिन्दू पलायन !!

अलीगढ़ से हो रहे हैं हिन्दू पलायन...!!
अभी हाल ही में कैराना के 346 हिंदू परिवारों ने मुसलमानों की गुंडागर्दी से बनी दहशत के कारण पलायन कर दिया था। उसका मामला अभी तो थमा ही नही और दूसरा एक मामला सामने आ गया है ।

https://youtu.be/w3GSMWfSlrc

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में कई हिन्दू घर संपत्ति, दुकानें छोड़कर चले गए हैं और कई जाने की तैयारी कर रहे हैं।
चौकाने वाली तो तब हुई जब वहाँ की मेयर भी मुस्लिम आतंक से परेशान होकर अलीगढ़ छोड़कर जाना चाहती है ।
अलीगढ़ में हिन्दुओं के कई मकानों दुकानों में ताले लगे हैं उसके ऊपर बोर्ड लिखा है कि यह मकान/दुकान बिकाऊ है ।
वहाँ पर हिन्दू बहु-बेटियाँ सुरक्षित नही हैं। दिन में भी कई मुस्लिम लड़के छेड़छाड़ी करते हैं । माँ-बाप अपनी बेटी को घर से अकेले नही भेजना चाहते हैं। यहाँ तक कि स्कूल भेजने में भी डर रहे हैं ।

कैराना के बाद अब अलीगढ़ से हो रहे हैं हिन्दू पलायन 

अलीगढ़ में जो हिन्दुओं की एकमात्र आजीविका का साधन थी दुकानें, उसको भी मुस्लिम लड़कों ने पत्थरबाजी करके बन्द करवा दिया , जिन पर आज बिकने के लिए बोर्ड टँगे है ।
बाबरी मंडी के इलाकों में दुकानों पर लिखा है कि "जान है तो जहान है ये दुकान बिकाऊ है"
इन मुस्लिम समुदाय के अत्याचारों से बचने के लिए हिन्दुओं को एकमात्र पुलिस का सहारा था । लेकिन पुलिस भी हिन्दुओं की कोई सहायता नही कर रही है ।
अपना हिन्दुस्तान जिसने "वसुधैव कुटुंब" एकता का पाठ पूरी दुनिया को पढ़ाया ही नही बल्कि साकार करके भी दिखा दिया ।
आज उस हिंदुस्तान में हिंदुओं पर ही अत्याचार हो रहा है। अब हिन्दू जाएँ तो कहाँ जाये?
हिन्दुस्तान में ही हिन्दू कितना लाचार हो गया है कि अपने वतन में भी शांति से नही रह पा रहा है घर छोड़ने को मजबूर हो रहा है ।
अब प्रश्न यह उठता है कि हिंदुओं के साथ हो रहे इस अत्याचार पर भारतीय मीडिया और सेक्युलर लोग चुप क्यों हैं ??
यही किसी मुस्लिम समुदाय के साथ हो रहा होता तो मीडिया की ब्रेकिंग न्यूज में ये खबर देखने को मिलती !
क्यों हिंदुओं के साथ इतना पक्षपात भरा रवैया है भारत की मीडिया का ?
सोचिये !!
जिस हिन्दू संस्कृति से पूरी दुनिया को सुख शांति का पैगाम मिला उसके लिए आज भारत का अन्न खाने वाली मीडिया आवाज उठाने को तैयार नही..!!!
आपको बता दें कि यह खबर कुछ समय पहले की है लेकिन मीडिया ने इसे दिखाना जरुरी नहीं समझा । कितने बड़े आश्चर्य की बात है। 
यही अगर किसी मुस्लिम या ईसाई समुदाय के साथ होता तो मीडिया 24 घण्टे न्यूज दिखाती, डिबेट बुलाती, अखबारों में मुख्य पेज पर बड़े-बड़े हेडिंग के साथ इंटरनेशनल खबरें बनती और सेक्युलर लोग बचाव करने के लिए आ जाते लेकिन हिन्दू आज प्रताड़ित हो रहा है तो सब चुप चाप बैठे हैं।
इन सब को देखते हुए हिन्दुओं को सावधान होना चाहिए ।
एक होकर आगे आना चाहिए,किसी एक भी हिन्दू के साथ अत्याचार हो रहा हो तो संगठित होकर मुकाबला करना चाहिए नही तो देश के अंदर जो कश्मीरी हिन्दुओं के साथ हुआ वैसा हो जायेगा ।
हिन्दुओं में एकता की कमी के कारण ही आज हिन्दू पलायन हो रहे हैं एक हिन्दू चला जाता है तो पड़ोसी हिन्दू चुप रहता है
एकबार भी विरोध नही करता है इसलिये आज ये दुर्दशा हो रही है ।
किसी हिन्दू साधु-संत के खिलाफ मीडिया दिखाती है तो उसको सच मानकर उनके खिलाफ बोलने लग जाते हैं ।
पर कभी विचार किया कि क्यों मीडिया कभी भी मौलवी या पादरी के खिलाफ कभी डिबेट नही चलाती ???

विचारें और बिकाऊ मीडिया से सावधान रहें !!!
मीडिया में ज्यादातर फंडिग विदेश से होती है जो भारतीय संस्कृति को खत्म करने के लिए भारत के साधु-संतों और हिन्दू लीडरों को ही टारगेट करते हैं ।
आप सावधान रहें इन बिकाऊ मीडिया और सेक्युलर लोगो से ।
संगठित होकर अन्याय से लोहा लें ।
अन्याय करना पाप है पर अन्याय सहन करना दुगना पाप है ।
एक होकर अन्याय का विरोध करो और सभी हिन्दू एक दूसरे की रक्षा करो ।


♦ Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺Facebook : https://goo.gl/dfOAjZ
🔺 Twitter : https://goo.gl/he8Dib
🔺 Instagram : https://goo.gl/PWhd2m
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺Blogger : https://goo.gl/N4iSfr
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

    🚩🇮🇳🚩 आज़ाद भारत🚩🇮🇳🚩

No comments:

Post a Comment

'पाकिस्तान' की नींव बंगाल में ही पड़ी थी

जुलाई 21, 2017 16 अगस्त, 1946 यानी भारत की स्वतंत्रता से ठीक एक साल पहले कलकत्ता में पहला दंगा भड़का और बंगाल के गांवों तक फैल गया।  द...