Thursday, February 16, 2017

ABP न्यूज के अधिकारी 45 करोड़ की रिश्वत लेते पकड़े गए रंगे हाथ..!!

ABP न्यूज के अधिकारी 45 करोड़ की रिश्वत लेते पकड़े गए रंगे हाथ..!!

आपने मीडिया में अक्सर देखा होगा कि दूसरों की खबरें खूब उत्तेजित होकर दिखायी जाती हैं मीडिया वाले द्वारा।
जैसे- एक बड़ी खबर आ रही है कि फलाना व्यक्ति इतने करोड़ रूपये लेते फंस गया यहाँ तक तो ठीक है लेकिन कोई हिन्दू कार्यकर्ता या हिन्दू साधु-संतों के ऊपर केवल कोई आरोप लग जाता है तो दिन-रात ब्रेकिंग न्यूज द्वारा वो खबरें हाईलाइट होती रहती हैं ।
ABP News officer caught red handed while accepting a bribe of 45 million 

अभी हाल ही में गुजरात की साध्वी जयश्रीगिरी के पास से केवल सवा करोड़ रूपये मिले होंगे तो सभी न्यूज चैनल ब्रेकिंग न्यूज द्वारा उसे दिन-रात दिखा रहे हैं लेकिन खुद मीडिया का ही एक बड़ा भांडा फोड़ हुआ है ।

हम आपको बता रहे हैं कि जो एक न्यूज चैनल खुद पैसा लेते पकड़ा गया है उस पर सभी मीडिया वालों ने चुप्पी क्यों साध ली है..??

क्योंकि एक मीडिया दूसरी मीडिया की पोल नही खोल सकती इसलिए..??

या दोनों मित्र ही चोर हो तो कौन किसकी पोल खोले इसलिए...??

ये तो केवल एक चैनल की पोल खुली है लेकिन ऐसे तो करीब सभी चैनल कितने पैसे लेते होंगे ईश्वर जाने!

 लेकिन अब जनता समझ गई है कि मीडिया जो खबरें दिखा रही है वो सभी खबरें सच नही होती, पैसे लेकर बनाई गई तथा तोड़-मरोड़ कर बनाई गई होती हैं ।

ABP न्यूज के अधिकारी पकड़ें गए रंगे हाथ..!!


बुधवार(15 फरवरी 2017) को एबीपी (ABP) न्यूज के कार्यकारी अधिकारी राजीव मलिक को 45 करोड़ रूपये के साथ गुड़गांव हाइवे पर गिरफ्तार कर लिया गया है । 

आपको बता दें कि एबीपी न्यूज के इस अधिकारी के पास पहले से तैयार की गई समाचार की कॉपिया भी मिली । 

गौरतलब है कि ये वो समाचार थे जो 2 महीने बाद चैनल पर दिखाए जाने थे और जिसके लिए इतनी बड़ी रकम दी गई थी ।


वैसे सूत्रों के अनुसार ये रकम उत्तर प्रदेश के चुनावों को प्रभावित करने के उद्देश्य से ही दी जा रही थी और इससे पहले भी 100 करोड़ और 64 करोड़ की राशि इस चैनल तक पहुंचाई जा चुकी थी ।
इसके इलावा समाचार लिखे जाने तक मामले की छान-बीन भी जारी थी ।

 यानि एबीपी न्यूज वाले जिन चुनावों को लेकर बड़ा मुद्दा बनाने वाले थे, अब वो खुद ही उस मुद्दे में फंस गए हैं ।  http://tadkanews.net/rishabh/abp-news-exposed/

इतने बड़े सच का खुलासा हुआ क्या आपको एक मिनट के लिए भी ऐसी कोई न्यूज किसी चैनल द्वारा देखने को मिली ?
 
अब बड़ी खबर या ब्रेकिंग न्यूज क्यों नही बनती है..??

ऐसे तो पहले भी कई सारे बुद्धिजीवी लोग खुलासा कर चुके हैं कि सबसे ज्यादा भ्रष्टाचार मीडिया में व्याप्त है लेकिन मीडिया वालें खुद की बुराई छुपाने के लिए दूसरे के विरुद्ध बड़ी-बड़ी खबरें बनाकर  दिखाते रहते हैं ।

जैसा कि हमने पहले भी कई बार खुलासा किया है कि भारतीय मीडिया हाउस पर विदेशी लोगों का दबदबा है। लगभग सभी मीडिया के मालिक विदेशी हैं इसलिये अधिकतर मीडिया की खबरें हिंदुत्व विरोधी होती हैं ।

मीडिया में अगर आपकी छवि को अच्छा बनाना है या किसी के विरुद्ध कोई खबर बनानी है तो पैसा दो या तो विज्ञापन दो ।
जैसे उदाहरण के तौर पर बाबा रामदेव को ले लीजिये। उनके खिलाफ मीडिया ने खूब बोला लेकिन जैसे ही उन्होंने विज्ञापन देना शुरू किया तो उनके खिलाफ न्यूज आनी बंद हो गई ।
दूसरा उदाहरण बापू आसारामजी का ले लीजिये जिन्होंने मीडिया को बोला था कि मैं अपने पैसे गरीबों में लगावऊगाँ पर मीडिया को नही दूँगा तो उनके खिलाफ हम देख रहे हैं कि आज तक बनावटी न्यूज बन रही है अगर बापू आसारामजी भी पैसे या विज्ञापन दे देते हैं तो उनके खिलाफ न्यूज दिखाना बन्द कर देंगे । 

यह खुलासा डीडी न्यूज वालों द्वारा भी हुआ था कि अगर बापू आसारामजी पैसा या विज्ञापन देना शुरू करेंगे तो उनके खिलाफ न्यूज बन्द हो जायेगी ।

यहाँ हमने दो उदाहरण आपके समक्ष रखे हैं पर ऐसे तो अनगिणत हैं ।

आपने टीवी या अखबार में देखा होगा कि कोई हिन्दू संस्कृति की या देश बचाने की बात करता है तो उनके खिलाफ न्यूज दिखाना शुरू हो जाते हैं । विवादित बयान करके लोगों के मन में उनके खिलाफ  माहौल बनाते है लेकिन वहीं दूसरी ओर ओवैसी, आजमखान जैसे लोग देश-विरोधी या हिन्दू संस्कृति के खिलाफ बोलते हैं तब चुप्पी साध लेते हैं ।

अगर आप गौर करें तो जब भी किसी हिन्दू साधु-संत या साध्वी पर आरोप लगते हैं तो मीडिया में दिन-रात दिखाया जाता है लेकिन जब वो निर्दोष बाहर आते हैं तो कोई खबर नही दिखाई जाती ।
पर दूसरी ओर अगर कोई ईसाई पादरी या मौलवी को कोर्ट सजा भी कर दे तो भी एक मिनट की न्यूज नहीं बनती है।

 आप समझ ही गए होंगे कि मीडिया का उपयोग करके हिन्दू संस्कृति एवं देश को तोड़ने का प्लान कर रही हैं विदेशी ताकतें । राष्ट्रविरोधी ताकतें देश को तोड़ने के लिए बड़ी चालाकी से काम कर रही हैं

अतः हिंदुस्तानी सावधान रहें!
विदेशी ताकतों के इशारे पर नाचने वाली मीडिया का बहिष्कार करें ।

जय हिंद!!

No comments:

Post a Comment

निर्दोष साध्वी प्रज्ञा को 9 साल में जमानत, रेप के आरोपी प्रजापति को 40 दिन में ही जमानत क्यों?

निर्दोष साध्वी प्रज्ञा को 9 साल में जमानत, रेप के आरोपी प्रजापति को 40 दिन में ही जमानत क्यों? 2008 मालेगांव बम विस्फोट में साजिश रचन...